Thursday, September 17, 2015

शुद्धात्मा !

आज की भोर पर 
मज़हबी नजर आया 
तमाम जग सा, 
एक तो श्री गणेश चतुर्थी, 
उसपर विश्वकर्मा दिवस सा,
कुलबुलाहट सी जगी दिल में
 शुद्ध-निर्मल होने की,
धो डाला सब गंगाजल से,     
मोबाइल फोन को भी नहीं बख्शा।  

Happy Ganesh Chaturthi & V.Karma Day !   

   

2 comments:

  1. श्री गणेश जी ,जिस तत्व से रचे हैं उसे धोना तो ठीक ...पर मोबाइल ?...शुद्धता तो उस पर बोलनेवालों की .....

    ReplyDelete
    Replies
    1. Ha-ha.. Pratibha Ji, AAJkal Jubaan kaun dekhtaa hai sab Mobile ko dekhte hai :-)

      Delete

ब्लॉगिंग दिवस !

जब मालूम हुआ तो कुछ ऐसे करवट बदली, जिंदगी उबाऊ ने, शुरू किया नश्वर में स्वर भरना, सभी ब्लॉगर बहिण, भाऊ ने,  निष्क्रिय,सक्रिय सब ...