Thursday, January 21, 2010

कॉमन

अब समझा  
कि  क्यों ,
नर-पिचाश  
इंसानो  को  खुद 
ऊपर उठाने के लिए
इतना  "Mad" है ?
क्योंकि
दोनों  का  

अपना -अपना
Hydra* - "Bad" है।



Hydra=क्रेन

Hyderabad

8 comments:

ए दुनियांदारी है कि होती नहीं टस से मस , जिधर झांको निन्यानबे का ही फेर है, बस, तीन सौ पैंसठ दिन यूं ही चलती है जिन्दगी, आज बडा दिन ह...