Thursday, March 21, 2013

कार्टून कुछ बोलता है- कैसे नहीं चलेगी सरकार ?


9 comments:

  1. यही दर तो साथ देने पर मजबूर करता है ॥सब एक ही थैले के चट्टे बट्टे हैं ।

    ReplyDelete
  2. मैं तुझे डराऊं, तू मुझे डराये
    जिसकी बारी आये, दांव दे जाये
    ईमानदार राजनेता हैं हम तो ताऊ
    कभी अपनों को दगा नही देते भाऊ

    रामराम

    ReplyDelete
  3. छापा करुना पर पड़ा, ममता थी निर्दोष ।
    महाठगिन माया ठगी, हृदय मुलायम तोष ।

    हृदय मुलायम तोष, बड़ा मोहन मन सच्चा ।
    छोड़ हमें जो जाय, उड़ा देते परखच्चा ।

    सी बी आय संकेत, खो रही सत्ता आपा ।
    टला बहुत स्टालिन, आज पड़ जाता छापा ॥

    ReplyDelete
  4. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवारीय चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  5. लोग पहले से समझते ही नहीं हैं..

    ReplyDelete
  6. बढ़िया है ,महोदय....
    साभार...

    ReplyDelete
  7. साथ तो छोड़ना ही नही चाहिए

    ReplyDelete
  8. ये तो होना ही था ...
    सी बी आई मेरी जेब में जो रहती है ...

    ReplyDelete

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना !

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना ! (New concept of 'seating arrangement' in Metro coaches ! ) ...