Tuesday, March 12, 2013

कार्टून कुछ बोलता है- अब तक का सबसे तीब्र विरोध !


11 comments:

  1. टली वापसी सिरों की, पाक-जियारत पूर ।
    मछुवारों के मौत का, अभी फैसला दूर ।
    अभी फैसला दूर, मिली नहिं चॉपर फ़ाइल ।
    कातिल गए स्वदेश, फंसा इक और मिसाइल ।
    भेजे सुप्रिम-कोर्ट, देखिये बढ़ी बेबसी ।
    कातिल नातेदार, नहीं देगा अब इटली ॥

    ReplyDelete
  2. टिली-लिली टिल्ला टिका, टिल्ले बड़ा नवीस ।
    इटली के व्यवहार पर, फिर से निकली खीस ।
    टिली-लिली = अंगूठा दिखाना
    टिल्ला= धक्का
    टिल्ले-नवीस = बहाने बाजी

    ReplyDelete
  3. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।।

    ReplyDelete
  4. सहन न करें, वहन करें।

    ReplyDelete
  5. यह सलाह बिल्कुल नेक है.

    रामराम.

    ReplyDelete
  6. यह रिश्तेदारी तो भारी पड़ती जा रही है !!

    ReplyDelete
  7. आपकी इस उत्कृष्ट पोस्ट की चर्चा बुधवार (13-03-13) के चर्चा मंच पर भी है | जरूर पधारें |
    सूचनार्थ |

    ReplyDelete
  8. सादर जन सधारण सुचना
    साहित्य के नाम की लड़ाई (क्या आप हमारे साथ हैं )साहित्य के नाम की लड़ाई (क्या आप हमारे साथ हैं )

    ReplyDelete

  9. सादर जन सधारण सुचना आपके सहयोग की जरुरत
    साहित्य के नाम की लड़ाई (क्या आप हमारे साथ हैं )साहित्य के नाम की लड़ाई (क्या आप हमारे साथ हैं )

    ReplyDelete

दिल्ली/एनसीआर, क्या चिकित्सा मर्ज का मूल मेदांता सरीखे अस्पताल नहीं ?

  चूँकि दिल्ली के मैक्स और हरियाणा  के  फोर्टिस अस्पताल का मुद्दा गरम है, इसलिए इस प्रसंग को उठाना जायज समझता हूँ। पिछले कुछ दशकों से अधिक...