Sunday, May 31, 2020

पैरोडी

फिल्म तीसरी कसम मे स्व. राजकपूर सहाब पर फिल्माया एक प्यारा सा गीत है; दुनिया बनाने बाले क्या तेरे मन मे समाई.....।
उसी की पैरोडी:-😂

कोरोना बनाने वाले, क्या तेरे मन में समाई,
तूने काहे को ये व्याधि बनाई, तूने काहे को ये व्याधि बनाई   - २

काहे बनाए तूने चमगादड़ चुचले,
धरती ये प्यारी प्यारी मुखड़े ये उजले
काहे बनाया तूने चाइना का खेला - २
जिसमें लगाया वायरस का मेला
गुप-चुप तमाशा देखे, वाह रे तेरी खुदाई
तूने काहे को व्याधि बनाई, तूने काहे को ये व्याधि बनाई  ...

तू भी तो तड़पा होगा कोविड बनाकर,
तूफ़ां ये सर्वनाश का मन में छुपाकर,
कोई छवि तो होगी आँखों में तेरी  - २
आँसू भी छलके होंगे पलकों से तेरी
बोल क्या सूझी तुझको, काहेको पीर जगाई
तूने काहेको ये व्याधि बनाई, तूने काहेको ये व्याधि बनाई  ...

क्वारनटाइन करवाके तूने जीना सिखाया, हंसना सिखाया,
रोना सिखाया
जीवन के पथ पर लॉकडाउन करवाए  - २
लॉकडाउन करवाके तूने सपने जगाए
सपने जगाके तूने, काहे को दे दी जुदाई
तूने काहेको ये व्याधि बनाई, तूने काहेको ये व्याधि बनाई  ...
कोरोना बनाने वाले, क्या तेरे मन में समाई.....।

3 comments:

कसमरा

मर्ज़ रिवाजों पे, कोरोना वायरसों का सख्त पहरा हैं, एकांत-ए-लॉकडाउन मे, दर्द का रिश्ता, बहुत गहरा है, थर्मोमीटर-गन से ही झलक जाती है जग की...