Thursday, August 26, 2010

अर्थ-अनर्थ !
















छवि गूगल से साभार , कार्टून को बड़े आकर में देखने के लिए कृपया उस पर क्लिक करे !

16 comments:

  1. hi.. just dropping by here... have a nice day! http://kantahanan.blogspot.com/

    ReplyDelete
  2. सीटी बजाने वाला का सीटी भी छीन लिया न्यायपालिका अऊर जेल में डाल दिया कार्यपालिका..
    अब सीटी बजाते रहिए...

    ReplyDelete
  3. शाम ढले खिडकी तले
    तुम सीटी बजाना छोड दो :)

    ReplyDelete
  4. बहुत बजाई सीटी जी ... अब बच्चो के लिये छोड दी:)

    ReplyDelete
  5. लो कल्लो बात..ये भी खूब रही!! :)

    ReplyDelete
  6. बिल्कुल बज गई जी.

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. सीटी बजने की ये एक नई शुरुआत है .... फिर पब्लिक की बजना ही है .... आभार

    ReplyDelete
  8. लो सबको अपना बना लिया
    सीटी बजा के।

    ReplyDelete
  9. अरे वाह गोदियाल जी.
    अच्छी खबर सुनाई आपने, आखिर सरकार ने हम जैसों की सुनी तो।

    ReplyDelete

ब्लॉगिंग दिवस !

जब मालूम हुआ तो कुछ ऐसे करवट बदली, जिंदगी उबाऊ ने, शुरू किया नश्वर में स्वर भरना, सभी ब्लॉगर बहिण, भाऊ ने,  निष्क्रिय,सक्रिय सब ...