Wednesday, May 1, 2013

कार्टून कुछ कहता है - प्रजातंत्र की याद में !


10 comments:

  1. आते ही धमाका ... इतने दिनों बाद आए ओर सटीक निशाना ...

    ReplyDelete
  2. सटीक स्मारिका!

    ReplyDelete
  3. सच में..किस-किस का लिखते..किस-किस का छोड़ते...लिखकर हटते तो एक नया नाम आ जाता....जिसका नाम छोड़ देते ..वो आपसे अलग नाराज हो जाता....बढ़िया किया जो किसी का नाम नहीं लिखा..

    ReplyDelete
  4. घोटालेबाजों का नाम खुदवाने के लिए अपर्याप्‍त दीवार स्‍थल।

    ReplyDelete
  5. बहुत मजबूत गेट ..

    ReplyDelete

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना !

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना ! (New concept of 'seating arrangement' in Metro coaches ! ) ...