Tuesday, July 17, 2012

कार्टून कुछ बोलता है - गरिमा का भी घोटाला !


9 comments:

  1. बेशर्मों को शर्म कहां आई है ... सटीक निशाना ...

    ReplyDelete
  2. उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवार के चर्चा मंच पर ।।

    आइये-

    सादर ।।

    आदरणीय पाठक गण !!

    किसी भी लिंक पर टिप्पणी करें ।

    सम्बंधित पोस्ट पर ही उसे पेस्ट कर दिया जायेगा 11 AM पर-

    ReplyDelete
  3. आती है उनको शर्म
    पर वो दिखाते नहीं हैं
    जाती है जब उनकी
    शर्म बताती नहीं हैं !!
    बहुत खूब !!!

    ReplyDelete
  4. कम शरमाना भी घोटाला ही है।

    ReplyDelete
  5. ये शर्म क्या होती है?

    रामराम.

    ReplyDelete
  6. [co="red"]ताऊ जी , आज के परिपेक्ष में काफी जटिल सवाल आपने पूछा है ! नेट पर सर्च करता हूँ, कहीं मुकम्मल जबाब मिला तो दूंगा :)[co/]

    ReplyDelete
  7. शर्म क्या चीज़ होती है...

    ReplyDelete

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना !

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना ! (New concept of 'seating arrangement' in Metro coaches ! ) ...