Monday, November 7, 2011

कार्टून कुछ बोलता है- बकरीद मुबारक हो !

14 comments:

  1. ज़बरदस्त 'झटका' है ... आपका यह कार्टून जो आम आदमी को रोज़ 'हलाल' होता दिखा रहा है !

    ReplyDelete
  2. गोदियाल भाई ,मुबारक हो !
    अंधड में भी सही !बहुत सही देख लिया आपने :-) ......

    ReplyDelete
  3. जनता तो हमेशा से ही हलाली का बकरा बनी हुई है और बनी रहेगी जब तक वह खुद इस निजाम को ध्वस्त नहीं कर देती है।

    ReplyDelete
  4. लाजवाब ज़बरदस्त

    संजय भास्कर
    आदत....मुस्कुराने की
    विदेश जाने की इच्छा छोड़ दे
    नई पोस्ट पर आपका स्वागत है
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    ReplyDelete
  5. सीधा खचैक ...। बहुत बढिया

    ReplyDelete
  6. Morphic resonance‎.... मैं भी ठीक इसी विषय पर र्काटून बनाने की सोच रहा था :) आपने मेरा काम कर दिया धन्यवाद

    ReplyDelete
  7. अपनी च्वॉयस तो झटका है, लेकिन हमें कौन पूछत है? :)

    ReplyDelete
  8. लजवाब सटीक झटका....

    ReplyDelete
  9. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल मंगलवार के चर्चा मंच पर भी की गई है! सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  10. आम आदमी तो बलि का बकरा ही है ।
    गोदियाल जी , कार्टून बहुत अच्छे बना लेते हैं आप ।
    बधाई ।

    ReplyDelete
  11. आपका ये झटका तो सच में झटका दे गया ...

    ReplyDelete
  12. अब तो झटके और टांगे आम नहीं है :) आदमी तो आम की तरह निचोडा जा रहा है॥

    ReplyDelete

दिल्ली/एनसीआर, क्या चिकित्सा मर्ज का मूल मेदांता सरीखे अस्पताल नहीं ?

  चूँकि दिल्ली के मैक्स और हरियाणा  के  फोर्टिस अस्पताल का मुद्दा गरम है, इसलिए इस प्रसंग को उठाना जायज समझता हूँ। पिछले कुछ दशकों से अधिक...