Friday, November 18, 2016

कार्टून कुछ बोलता है ; नाम बड़े और दर्शन छोटे !




2 comments:

  1. कजरी बेचारा ... अब पुलिस दिल्ली की उसे दे दो फिर देखो ... लगी हुयी लाइनें भी न तुडवा दे तो कजरी नहीं ...

    ReplyDelete

आत्ममंथन !

बस, आज  कुछ नहीं कहने का क्योंकि आज अवसर है शूरवीरो की पावन सरजमीं के  बंदीगृह के बंदियों से,  कुछ सीख लेने का ।