Saturday, October 17, 2020

लाचारी

 


2 comments:

चुनौती..

हिम्मत है तुझमें तो तू निकल के दिखा,  मुख से, पेट से, दांतों या फिर आंखों से, ऐ मेरे दर्द, अब तू बच नहीं सकता, क्योंकि मैने तुझे बांध दिया ह...