Monday, March 14, 2011

कार्टून कुछ बोलता है-पितृत्व सुख !


17 comments:

  1. यह कार्टून बहुत कुछ कहता है .

    ReplyDelete
  2. आदरणीय गोदियाल जी
    नमस्कार !
    कार्टून बहुत कुछ कहता है

    ReplyDelete
  3. कई दिनों व्यस्त होने के कारण  ब्लॉग पर नहीं आ सका

    ReplyDelete
  4. वाह , कहाँ निशाना साधा है । :)

    ReplyDelete
  5. गोदियाल जी आजकल आपको क्या हो गया है?आपका दिमाग कहां कहां दौड जाता है?:) लाजवाब.

    रामराम

    ReplyDelete
  6. हा हा हा ...बहुत बढ़िया सर जी!

    ReplyDelete
  7. सही बात ... बर्दाश्त की भी हद होती है

    ReplyDelete
  8. कार्टून बहुत कुछ कहता है|धन्यवाद|

    ReplyDelete
  9. लड्डू शड्डू बँटवायेंगे:)

    ReplyDelete
  10. मिठाई बचाना चाहते हैं..

    ReplyDelete
  11. बच्चे की शादी तक जीने की आस उत्पन्न हो जायेगी।

    ReplyDelete
  12. बेचारे बच्चे की गलती थोडे ना हे.....

    ReplyDelete
  13. तिवारी जी का चित्रांकन अच्छा है.

    ReplyDelete

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना !

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना ! (New concept of 'seating arrangement' in Metro coaches ! ) ...