Thursday, October 25, 2012

कार्टून कुछ बोलता है- एक नया योग !


10 comments:

  1. ye cartoon bahut kuch bol rha h...

    achcha yoga hain. :))

    ReplyDelete
  2. पूर्ती का इक अर्थ है, गुणन गुणा का काम ।
    फुर्ती से कर पूर्ती, दे मंत्री पैगाम।
    दे मंत्री पैगाम, रास्ता बड़ा बना लो ।
    छोटा सा इक पाथ, हमारे घर में ढालो ।
    पतली चलनी आज, मोटा सूप बिसूरती ।
    बाड्रा ना सलमान, हुआ बदनाम पूर्ती ।।

    ReplyDelete
  3. उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।।

    ReplyDelete
  4. इन लोगों का राज अब पता चला.

    ReplyDelete
  5. उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवार के चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  6. कहां कहां से देखने के दि‍न आ गए, हे राम

    ReplyDelete
  7. संतुलन अतुलनीय ।

    ReplyDelete

मिथ्या

सनक किस बात की,  जुनून किस बात का? पछतावे की गुंजाइश न हो,  शुकून किस बात का?