Monday, February 21, 2011

कार्टून कुछ बोलता है-कलमाडी की सफाई


18 comments:

  1. ताऊ बिल्कुल सही कह रहा है.:)

    रामराम.

    ReplyDelete
  2. झूठ तो नहीं है !जय हो

    ReplyDelete
  3. अरे कलमाडी जी रुपये तो कोई भी नही खा सकता,लेकिन घाटोले से डकार तो सकता हे ना

    ReplyDelete
  4. बहुत ही उम्दा रचना , बधाई स्वीकार करें .
    आइये हमारे साथ उत्तरप्रदेश ब्लॉगर्स असोसिएसन पर और अपनी आवाज़ को बुलंद करें .कृपया फालोवर बनकर उत्साह वर्धन कीजिये

    ReplyDelete
  5. मंहगाई और भ्रष्टाचार कोई कबूलने वाली बातें नहीं हैं.कलमाडी जी गलत कहाँ हैं?

    ReplyDelete
  6. अब तो हिम्मत और बढ़ गई है ... चोरी और सीनाजोरी की... जेपीसी कराने की मांग है जी :)

    ReplyDelete
  7. ये तो कलमाडी सही बोल रहा है ।

    ReplyDelete
  8. सही कहा.. उसने कहाँ रुपया खाया है....

    ReplyDelete
  9. आदरणीय गोदियाल जी.
    नमस्कार
    पहले तो सफल कार्टूनिस्ट बनने पर बधाई!

    ReplyDelete
  10. बहुत ही उम्दा रचना

    ReplyDelete
  11. बेचारा सही तो कह रहा है...

    ReplyDelete
  12. सही बात है, रुपया कहाँ खाया?

    ReplyDelete

दिल्ली/एनसीआर, क्या चिकित्सा मर्ज का मूल मेदांता सरीखे अस्पताल नहीं ?

  चूँकि दिल्ली के मैक्स और हरियाणा  के  फोर्टिस अस्पताल का मुद्दा गरम है, इसलिए इस प्रसंग को उठाना जायज समझता हूँ। पिछले कुछ दशकों से अधिक...