Friday, July 26, 2013

कार्टून कुछ बोलता है- दहशतगर्द भोजन !

 

8 comments:

  1. हे भगवान हमारे बीनू फ़िरंगी को तो बख्श दो दुष्टों.

    रामराम.

    ReplyDelete
  2. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
    Replies
    1. गुरुवर मिड डे मील पर, पाले नव फरमान |
      कुत्तों को पकड़ा रहे, पा जोखिम में जान |
      पा जोखिम में जान, प्यार से उसे जिमायें |
      खा के पहला ग्रास, अगर कुत्ता बच जाए |
      आय जान में जान, किन्तु कुक्कुर कुल बढ़कर |
      सरपट जाते भाग, पड़ें मुश्किल में गुरुवर ||

      Delete
  3. बहुत अच्‍छा कॉर्टून बनाया आपने।

    ReplyDelete
  4. कमाल का कामयाब कार्टून ...
    वाकई वह मिड डे मील देख कर ही भागा है ! कुत्ते समझदार होते हैं !

    ReplyDelete
  5. कार्टून उन बच्चों की दयनीय दशा याद दिलाता है जिनका काम खाये बिना भी नहीं चलता !

    ReplyDelete

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना !

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना ! (New concept of 'seating arrangement' in Metro coaches ! ) ...